5 सर्वश्रेष्ठ लघु नैतिक कहानियां हिंदी में | 5 Best Short Moral Stories In Hindi | New Hindi Kahani

0
19

5 सर्वश्रेष्ठ लघु नैतिक कहानियां हिंदी में | 5 Best Short Moral Stories In Hindi


5 सर्वश्रेष्ठ लघु नैतिक कहानियां हिंदी में | 5 Best Short Moral Stories In Hindi New Hindi Kahani
5 Best Short Moral Stories In Hindi | New Hindi Kahani

दोस्तों इस पोस्ट में हमने आपके लिए पाँच सर्वश्रेष्ठ  Short Moral Stories लिखी है जिन कहानियों के पीछे नैतिकता और संदेश होते हैं वे हमेशा शक्तिशाली होती हैं। ये कहानियाँ उन्हें प्रेरित करेंगी, और उनमें सही मूल्य प्रणाली का निर्माण करेंगी, ताकि वे भविष्य में नेक इंसान बन सकें। वे पढ़ने में मज़ेदार हैं ।

5 सर्वश्रेष्ठ लघु नैतिक कहानियां हिंदी में | 5 Best Short Moral Stories In Hindi

{tocify} $title={Table of Contents}

1. आपका उपकार कभी व्यर्थ नहीं जाता

एक समय था जब आदमी बिकता था। ऐसे व्यक्ति को दास कहा जाता था। यह गुलामी का समय था। इन दिनों यह सिर्फ एक सवाल है।


एक गुलाम था और उसका नाम गंगाधर था। एक बार यह दास एक जंगल में गया। उसने एक जानवर के रोने की आवाज सुनी। वह उसी तरफ चलने लगा। उसने देखा कि एक शेर रो रहा है और आंसुओं की बौछार हो रही है।


पहले तो गंगाधर की हिम्मत नहीं हुई, लेकिन शेर को रोते हुए देख उसे दया आ गई । अहिस्ता-अहिस्ता गंगाधर उसके पास पहुँच गया।


उसने देखा कि शेर के एक पैर में काँटे लगे है। दर्द के कारण वह बेचैन है। अपने जीवन को हथेली पर रखकर गंगाधर शेर के बहुत करीब पहुंचा और शेर के पैर से काँटे हटा दिए। शेर उठा और घने जंगल में धीरे-धीरे सिसकता हुआ चला गया। वर्षों बाद, गंगाधर दास को एक त्रुटि के लिए राजा ने मौत की सजा सुनाई।


उन्होंने उसे मरने के लिए शेर के सामने छोड़ दिया। उस आदमी को देखकर भूखा शेर उछल पड़ा। लेकिन जैसे ही वह गंगाधर के पास पहुंचा, तो वह अचानक रुक गया। उसे याद आया कि बहुत समय पहले इसी आदमी ने तो मेरे पैर से कांटे निकाले थे। उसे अपने घायल पैर का दर्द याद आ गया।

 

गंगाधर एक बार कांप गया, फिर उसने देखा कि शेर पालतू कुत्ते की तरह अपनी पूंछ हिलाते हुए उसके पैरों को चाटने लगा। उसकी आँखों में दया थी।


जानवर किसी का एहसान नहीं भूलते। वे परोपकार के लिए एहसान अदा करते हैं।


शिक्षा:

अगर आपने किसी के लिए काम करके किसी की मदद की है, तो वह कभी भी बेकार या खाली नहीं जाएगी, कभी न कभी वह उपयोगी होगी।



5 सर्वश्रेष्ठ लघु नैतिक कहानियां हिंदी में | 5 Best Short Moral Stories In Hindi

 


2. दया की प्राप्ति

राजा सबुतागिन पहले बहुत गरीब थे। एक साधारण सैनिक थे। एक दिन वह बंदूक लेकर घोड़े पर बैठ गया और जंगल में शिकार करने चला गया।


उस दिन उसे बहुत दौड़ना पड़ा और आश्चर्य जब हुआ। तब बहुत दूर जाने पर उन्होंहे अपने छोटे बच्चे के साथ एक हिरणी को देखा। सबुतागिन उसके पीछे दौड़ा। हिरणी डर कर भाग गयी और एक झाड़ी में छिप गयी, लेकिन उसका छोटा बच्चा पीछे रह गया।

 

सबुतागिन ने हिरणी के बच्चे को पकड़ लिया और उसके पैर बांधकर उसे घोड़े पर लाद दिया। काफी तलाश करने के बाद भी जब हिरणी नहीं मिली तो वह बच्चे को लेकर चल दिया। जब हिरणी ने देखा कि उसके बच्चे को शिकारी बांध रहा है। और अपने साथ ले जा रहा है ।


वह अपने बच्चे के आकर्षण के साथ झाड़ी से बाहर आई। और सबुतागिन के घोड़े के पीछे दौड़ाने लगी, सबुतागिन ने पीछे मुड़कर देखा। तो हिरणी को अपने पीछे दौड़ता देखकर वह हैरान रह गया और उसे दया आ गई।


उसने हिरणी बच्चे के पैर खोल दिए और उसे छोड़ दिया। हिरणी खुश हुई और अपने बच्चे को लेकर भाग गयी। उस दिन घर लौटकर जब सबुतागिन रात को सो गया तो उसे एक सपना आया।


कोई फरिश्ता उससे कह रहा था- ”सबुतागिन! तुमने आज एक बेचारी हिरणी पर दया करके नेक कार्य किया है। भगवान ने आपका नाम सम्राटों की सूची में लिखा है। तुम एक दिन राजा बनोगे सबुतागिन का सपना सच हुआ। बाद में वे सम्राट बने।


सीखने योग्य बातें

“बेजुवान जानवरों के प्रति दया की भावना रखें और उनकी देखभाल करते रहें।    क्योंकि इसे देखने के बाद भगवान आपको आशीर्वाद देंगे ।”



5 सर्वश्रेष्ठ लघु नैतिक कहानियां हिंदी में | 5 Best Short Moral Stories In Hindi

 


3. भगवान हर जगह हैं

दातादीन रोज शाम को सोने से पहले अपने लड़के गोपाल को कहानियाँ सुनाया करता था। एक दिन उसने गोपाल से कहा – “बेटा! एक बात कभी मत भूलना कि ईश्वर सब जगह होते है। “


गोपाल ने चारों ओर देखा और पूछा, “पिताजी!, मैं ईश्वर को कहीं नहीं देख पाता हूँ। ” दातादीन ने कहा: “हमारे पास भगवान को देखने की क्षमता नहीं है, लेकिन हर कोई भगवान की नजर में है या हम भगवान की देखरेख में कह सकते हैं..वह हर चीज को देख रहा है।


कुछ दिनों बाद अकाल पड़ा। गोपाल को अपने पिता की बात याद आई। दातादीन के खेतों में कुछ नहीं हुआ। एक दिन वह रात के अंधेरे में गोपाल को लेकर गांव से निकल गया।


वह दूसरे किसान के खेत से कुछ अनाज चुराकर घर लाना चाहता था। गोपाल को मेड पर बिठाते हुए उसने कहा – “अपने चारों ओर देखो! इधर-उधर कोई दिखे तो बता देना।


दातादीन खेत में बैठकर अनाज काटने वाला ही था। कि इतने में गोपाल बोला ठहरो “पिताजी!

दातादीन ने पूछा – “क्या कोई हमें देख रहा है!”

गोपाल बोला – “हाँ ! देख रहा है। “

दातादीन खेत से बाहर मेड पर निकल आया। उसने इधर-उधर देखा तो उसे कोई भी नज़र नहीं आया तो उसने अपने बेटे से पूछा- ”हमें कौन देख रहा था?”

गोपाल – “जैसा कि पिताजी आपने कहा था कि भगवान हर जगह हैं और इस दुनिया में सभी गतिविधियों को करने वाले सभी लोगों को देखते हैं, तो क्या आपको खेत काटते हुए नहीं देखेंगे। दातादीन अपने बेटे की बातें सुनकर लज्जित हुआ। और चोरी का विचार त्याग कर घर लौट आया ।



5 सर्वश्रेष्ठ लघु नैतिक कहानियां हिंदी में | 5 Best Short Moral Stories In Hindi

 


4. दूसरों पर कभी भरोसा न करें

एक किसान के पास एक गाय और एक घोड़ा था। वे दोनों जंगल में एक साथ चरा करते थे। किसान के पड़ोस में एक धोबी भी रहता था। धोबी के पास एक गधा और एक बकरी थी। धोबी ने भी उन्हें उसी जंगल में चरने के लिए छोड़ देता था। साथ चरते – चरते चारों जानवर अच्छे दोस्त बन गए।

वह एक साथ जंगल में प्रवेश करते थे और एक साथ ही जंगल छोड़ते थे।


इस जंगल में एक खरगोश भी रहता था। जब खरगोश ने चार जानवरों की दोस्ती देखी तो वह सोचने लगा: “क्या मैं भी उनसे दोस्ती कर सकता हूँ?” तो बहुत अच्छा होगा, अगर मैं इतने बड़े जानवरों से दोस्ती कर लूँ तो कुत्ता भी मेरा मज़ाक नहीं उड़ा सकता।


खरगोश उनके पास आया। और उनके सामने कूद – कूद कर उनके साथ चरता था। धीरे-धीरे उसकी चारों से दोस्ती हो गई। खरगोश बहुत खुश हुआ, वह समझने लगा कि कुत्तों का डर दूर हो गया है।


एक दिन कुत्ता इस जंगल में घुस गया और खरगोश के पीछे भागा। खरगोश दौड़ कर गाय के पास गया और बोला, “गौमाता! यह कुत्ता बहुत मतलबी है। वह मुझे मारने आया है। तुम उसे अपने सींगों से मारो।


गाय बोली, “अरे खरगोश!” तुम बहुत देर से आए हो, मेरे घर जाने का समय हो गया है। मेरा बछड़ा भूखा है और मुझे बार-बार पुकार रहा होगा। मैं घर जाने का इंतजार नहीं कर सकती। तुम घोड़े के पास जाओ।


खरगोश दौड़ कर घोड़े के पास गया और बोला, “घोड़ा भाई! मैं तुम्हारा दोस्त हूँ, आज यह दुष्ट कुत्ता मेरा पीछा कर रहा है। तुम मुझे अपनी पीठ पर बैठाकर ले चलो।


घोड़े ने कहा, “आप सही कह रहे हैं, लेकिन मुझे नहीं पता कि कैसे बैठना है! मैं खड़े-खड़े सोता हूं। में तुम्हें मेरी पीठ पर कैसे बिठा सकता हूँ? इन दिनों मैं तेज नहीं दौड़ सकता या अपने पैर नहीं फाड़ सकता।


घोड़े से निराश होकर खरगोश गधे की ओर चला गया। उसने कहा, “दोस्त!” आप इस पागल कुत्ते को समझाने की कोसिस करें। तो सायद मेरी जान बच जाए।


गधे ने कहा: मैं हमेशा गाय और घोड़े के साथ घर जाता हूं। वे दोनों चले जाते हैं, यदि मैं उनके साथ नहीं गया और मैं पीछे रह जाता हूं, तो मेरा मालिक कपड़े लेकर चला जाएगा। और मुझे मारेगा, मैं अब यहाँ नहीं रुक सकता।


अंत में खरगोश बकरी के पास गया। बकरी ने देखा तो बोली : “खरगोश भाई! कृपया यहाँ मत आना! कुत्ता तुम्हारे पीछे भागता है, मुझे उससे बहुत डर लगता है।


हर जगह से निराश होकर खरगोश भाग निकला। वह भाग कर एक झाड़ी में छिप गया। कुत्ते ने बहुत खोज की, लेकिन उसे खरगोश का पता नहीं मिला। जब कुत्ता लौट गया। फिर खरगोश झाड़ी से बाहर आया, चारों ओर देखा और चैन की सांस ली।


तब उसने कहा: दूसरों पर भरोसा करने का मतलब हमेशा आपने आप को धोखा देना है। आपको अपनी मदद खुद करनी चाहिए। “



5 सर्वश्रेष्ठ लघु नैतिक कहानियां हिंदी में | 5 Best Short Moral Stories In Hindi

 


5. भेड़िया और गधा

एक बार एक गधा घास चर रहा था। तभी उसने देखा कि एक भेड़िया उसकी ओर आ रहा है। गधे ने तुरंत लंगड़ाने का नाटक किया भेड़िये ने गधे से उसके लंगड़ेपन का कारण पूछा। गधे ने बताया कि वह एक झाड़ी से गुजर रहा था फिर उसके एक पैर में कांटा चुभ गया।


अब गधे ने भेड़िये से काँटा निकालने को कहा। गधे को खाने वाले भेड़िये ने गधे की विनती स्वीकार कर ली

 

क्योंकि उसे लगा कि गधा अब और नहीं भाग सकता है। गधे ने अपना पैर उठाया और भेड़िये ने सावधानी से कांटा निकालने के लिए झुका और देखने लगा। लेकिन तभी गधे ने भेड़िये के मुंह पर लात मार दी। और कहा:- ‘तुम कसाई हो, डॉक्टर नहीं!’

 

भेड़िया धूल चाटने लगा और जमीन पर गिर पड़ा । गधा सरपट दौड़ा और अपनी जान बचा ली।


सबक:

संकट के समय आपको अपनी बुद्धि का प्रयोग करना चाहिए ।

 

 

और भी पढ़े। …     
  1. सपनो का हवा महल     
  2. 10  नैतिक कहानियाँ
  3. महात्मा और चूहा 
  4. बिल्ली के गले में घंटी कौन बांधेगा
  5. New Hindi Kahani 
  6. महान पंडित और तेनाली राम 
  7. तेनाली राम और तीन गुड़िया

 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here